News Headlines
Search

गजब ! बिना निविदा-अनुबंध के काट डाला पहाड़

478

ठेकेदार ने दी मुसीबत को दावत

कटान आवासीय बस्ती के लिए बना मुसीबत का सबब
भूस्खलन का खतरा
कटिंग के मलवे से सांकरी जखोल मोटर मार्ग हुआ बन्द

    नीरज उत्तराखंडी

पुरोला। 2003 में आपदा का दंश झेल चुके सदरी गाँव के फफराला से 20 परिवारों को विस्थापित करके सांकरी – जखोल मोटर मार्ग के ऊपर वरूणावत पैकेज के तहत भू वैज्ञानिकों के सर्वेक्षण के बाद तल्ला नगर (सिदरी)बसाया गया।यहाँ आराम से जीवन यापन करने जा रहे थे लेकिन एक ठेकेदार ने विना अनुबंध के सांकरी जखोल मोटर मोटर मार्ग में पहाड़ कटान शुरू करने से विस्थापित बस्ती के लोगों के लिए मुसीबत पैदा कर दी है।पहाड़ कटान से आवासीय बस्ती के नीचे दरारें आने से भूस्खलन का खतरा बढ गया है। ग्रामीणों ने एसडीएम को ज्ञापन देकर कार्रवाई की मांग की है। उपजिला अधिकारी को प्रेषित ज्ञापन में ग्रामीणों ने कहा है कि सांकरी-जखोल मोटर मार्ग के किमी एक व दो में पहाड़ी कटान होने के कारण फफराला से विस्थापित तल्ला नगर (सिदरी) बस्ती को खतरा पैदा हो गया है। इस कटिंग के कारण विस्थापितों के घरों सहित बाग बगीचे एवं कृषि भूमि भूस्खलन की जद में है। विस्थापितों ने उपजिलाअधिकारी से इसकी  जांच करने की मांग की है।


वर्ष 2003 में शासन ने फफराला खडड मे लगातार हो रहे भूस्खलन को देखते हुए यहाँ के 20 परिवारों को सांकरी जखोल मोटर मार्ग के किमी 2 के ऊपर तल्ला नगर (सिदरी) में विस्थापित किया था। यहाँ इनका जीवन यापन बहुत बढ़िया ढंग से चल रहा था। विस्थापितों ने यहाँ सेब के बाग खड़े कर दिए थे लेकिन लोनिवि द्वारा यहाँ भारी मात्रा में पहाड़ी कटान करने के कारण इस विस्थापित बस्ती के अस्तित्व पर खतरा मडरा रहा है। यहाँ कटिंग के कारण दरारे पड़ गई है कई भवन एवं सेब के बाग भूस्खलन की जद में है। ग्रामीणों ने उपजिलाअधिकारी को अवगत कराया कि यह पहाड़ कटान कार्य विभाग द्वारा करवाया गया है या किसी संस्था या व्यक्ति के द्वारा इसका कोई पता नहीं है। उन्होंने बताया कि यहाँ अनावश्यक पहाड़ का कटान किया गया है। कटान के बाद सांकरी से जखोल बसें नहीं चल रही है। बसों का संचालन बंद हो गया है। जान जोखिम में डालकर लोग टैक्सियों से आवाजाही कर रहें हैं । उन्होंने एसडीएम से मामले की जांच की मांग की है।ज्ञापन भेजने वालों में प्रधान संगठन के अध्यक्ष प्रहलाद सिंह रावत,जयवीर सिंह, जयलाल,किशना,दयाराम,आदि मौजूद थे। विभाग के अधिशासी अभियंता धीरेंद्र कुमार ने बताया कि विभाग की ओर से कोई कटिंग का कार्य नहीं किया गया है। पता चला है कि वहाँ कोई ठेकेदार पहाड़ी कटान का कार्य कर रहा है जबकि इस सम्बंध में विभाग से ठेकेदार के साथ कोई भी अनुबंध नहीं है कनिष्ठ अभियंता को आरोपी के कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं।




3 thoughts on “गजब ! बिना निविदा-अनुबंध के काट डाला पहाड़

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *